Browsing Tag

Cracks in Joshimath

समय पर चेतते तो बच जाता जोशीमठ

यह डायरी धंसते-दरकते जोशीमठ की तीन दिन की यात्रा का वृतांत लिखने का प्रयास है। डायरी के कुछ हिस्से हेराल्ड ग्रुप के अंग्रेजी अखबार नेशनल हेराल्ड, हिन्दी अखबार नवजीवन और उर्दू अखबार कौमी आवाज ने प्रकाशित किये हैं। यहां सम्पूर्ण डायरीप्रकाशित…

चमोली में वामपंथी आंदोलन

स्व. नन्द किशोर मैठाणी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र भट्ट ने जोशीमठ आंदोलन के नाम पर एक बार फिर उत्तराखंड में वामपंथी कार्यकर्ताओं को चीन के मददगार बताया है। स्व. नन्द किशोर मैठाणी का यह लेख साफ करता है कि…

2 जनवरी की आधी रात क्या हुआ था जोशीमठ में??

Trilochan Bhatt दो जनवरी की आधी रात के बाद आखिर ऐसा क्या हुआ कि जोशीमठ के एक बड़े हिस्से में बड़ी-बड़ी दरारें आ गई। जोशीमठ में तीन दिन रहकर मैंने विभिन्न हिस्सों में रहने वाले लोगों से बातचीत की। इस बातचीत में एक बात जो हर मिलने…

जोशीमठ के बहाने सनसनी की दरारें

आज से करीब आठ महीने पहले जब जोशीमठ के एक हिस्से में धंसाव बढ़ने लगा था और लोग दहशत में थे तो तब मैंने जोशीमठ जाकर जमीन में धंसाव और घरों में दरारें पड़ने के तीन वीडियो बनाये थे। ये वीडियो बात बोलेगी पर देखे जा सकते हैं। मैंंने अपने वीडियो में…

जोशीमठ वालों को संभालने की जरूरत

Trilochan Bhatt नया साल शुरू हुए आज 9 दिन हुए हैं। मैं उत्तराखंड में चमोली जिले के सुदूर जोशीमठ में हूं। वही जोशीमठ जो लगातार दरक रहा है, धंस है, जमींदोज हो रहा है। जोशीमठ में इन दिनों सरकारी अधिकारियों का डेरा है। सुरक्षा और…

खंड-खंड होते उत्तराखंड के लिए जिम्मेवार कौन, कहां बसेंगे उजड़े लोग

Raju Sajwan Trilochan Bhatt अक्टूबर का महीना है। आमतौर पर हिमालयी राज्य उत्तराखंड में सितंबर के दूसरे हफ्ते तक बारिश बंद हो जाती है और अक्टूबर की शुरुआत में मानसून विदा हो जाता है। राज्य के प्रमुख शहर जोशीमठ जैसे ऊंचाई वाले…