Browsing Category

पर्यावरण

बिजली के लिए तबाह गांव का आधा-अधूरा पुनर्वास

Trilochan Bhatt उत्तराखंड सरकार की रिपोर्ट कहती है कि राज्य में 350 गांव आपदा की दृष्टि से संवेदनशील हैं। इनमें 51 गांव अति संवेदनशील हैं और उन्हें जल्दी विस्थापित किये जाने की जरूरत है। इसके अलावा अन्य 350 गांवों के 600 परिवारों को भीं…

भोपाल गैस त्रासदी के 37 साल: भोपाल के साथ भेदभाव कर रहा है डाव केमिकल्स?

Rakesh Kumar Malviya भोपाल गैस त्रासदी की 37वीं बरसी पर शहर के चार पीड़ित गैस पीड़ित संगठनों ने यूनियन काबाईड कंपनी डाव केमिकल्स को आड़े हाथों लिया। उन्होंने आरोप लगाया कि डाव केमिकल्स दुनिया में दूसरी जगहों पर तो कंपनी द्वारा…

जंगल बचाने का जान दी, अब स्मारक का भी सम्मान नहीं

 Mahipal Negi उसे जंगलों की आग बुझाने के दौरान (नागरिक सेवा) बलिदान के लिए मिला था देश का प्रथम शौर्य चक्र (समकक्ष महावीर चक्र) इस बलिदानी का नाम था रणवीर सिंह बिष्ट। कौन था ये बलिदानी। कैसे हुआ था बलिदान। और कहां पर है, गोबर कचरे…

ऐसे कैसे निपटेंगे जलवायु परिवर्तन के प्रभाव से

आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय की ओर से हाल ही में स्वच्छ सर्वेक्षण के नतीजे घोषित किये गये। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून सहित कई शहरों व कस्बों में खूब धूमधाम से प्रचारित किया गया। हालांकि इस प्रचार में असली फैक्ट छिपा दिये गये। मसलन…

बढ़ता कचरा, चढ़ती रैंकिंग

Trilochan Bhatt यह अच्छी बात है कि केंद्र सरकार की ओर से हर वर्ष देशभर के शहरों के लिए की जाने वाली स्वच्छता प्रतियोगिता ‘स्वच्छ सर्वेक्षण’ इस फिर देहरादून सहित राज्य की कुछ अन्य शहरों की रैंकिंग में सुधार हुआ है। मैं सभी संबंधित…

विकास की भेंट चढ़ गये सैकड़ों प्राकृतिक जलस्रोत

Trilochan Bhatt उत्तराखंड के पहाड़ों में जल्दी से जल्दी रेल पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि 2025 तक चमोली जिले के कर्णप्रयाग तक रेल पहुंच जाएगी। यह रेलवे लाइन बदरीनाथ, केदारनाथ और हेमकुंड जाने वाले तीर्थ…

बेमौसमी बारिश में तबाह उत्तराखंड

Trilochan Bhatt मानसून बीत चुका था और उत्तराखंड में सामान्य जनज-जीवन पटरी पर लौटने लगा था। इस बार 117 दिन तक सक्रिय रहे मानसून सीजन में राज्य के ज्यादातर इलाकों में हालांकि बारिश सामान्य से कम हुई थी, लेकिन परेशानी बारिश ने लोगों…

ऋषिगंगा के बाद धौली में भी तबाही की तैयारी

InTrilochan Bhatt दीवाली की रात जब पूरे देश में जश्न का माहौल था, चमोली जिले की सुदूर नीति घाटी के भल्ल गांव के दर्जनों लोग भी त्योहार मनाने अपने गांव गये थे। गांव तक सड़क न होने के कारण लोगों ने अपनी कारें और मोटर साइकिल गांव से कुछ दूर…